ऐतिहासीक भारत

मित्रों, !!!!

....  म्हणाले की, "इतिहास घडवणारे भारत",
कसला ढासू बाणेदार नायक
याच्या बुलंद छातीचा गवगवा त्याला मुबारक

करून टाकली रद्दी , अचानक, 
अगदी न भूतो न भविष्यती आत्मघातक
भलतेच ऐतिहासीक कपाळमोक्ष कारक

बेहिशेबी निर्णय झाला टंचाईकारक
लाखोंच्या सदर्यात भटकता प्रधानसेवक

म्हणतात आता की झाली एक 'चूक' !
सुलतानी लहरीने हरवली गरीबाची तहान - भूक

दोन हजारच्या टिकल्यांसाठी रांगारांगी,
देशभक्तीचा काय पण हुरूप !

अच्छे अच्छे, अक्कलेचे, 'दीन-दीन' कारभारी
अडाण्याच्या गाड्याचे भक्तगण लय भारी

बॅंका उलट्या अन् नोटा छोट्या 
रसातळाची जोखीम तरी चोराच्या उलट्या ...

अभाव रोखतेचा? , की अभाव अकलेचा?,
गप्पा विकासाच्या ? , की कारभार उलट्या काळजाचा? 

पण बघा , सांगितलेलं नं 
की घडवणारे इतिहास भारत ? 


- स्वाती December 16 2016

Comments

chanda asani said…
Can you translate this one for me.
Love lots
Swati Vaidya said…
Here is it for you my dear Chanda,

मित्रों, !!!!


.... ऐलान किया कि,"इतिहास रचेगा‌ भारत",
ऐसा है ढ़ांसू जाांबाज़ नायक
सीने नापने का शौक़ उसे मुबरक

बना दी रद्दी, अचानक,
बिल्कुल न भूतों न भविष्यती ऐसी आत्मघातक
वाकई में अजीब तरह कपालमोक्षकारक

एक बेहिसाब निर्णय लें आया कमींयां हैरानीजनक
लाखों के पहनावोंमें मंडराता प्रधानसेवक

अब कहते हैं कि हो गई एक भूल
सुल्तान की ख्वाईशोंपर गरीबों की रोटी चकनाचूर

दो हज्जार की नगद के लिए
कतारों में खड़ी है राष्ट्र भक्तों की फौज दूर-दूर

अच्छे अच्छे अक्लमंदी के अंकल से मंद कारोबारी
भक्तों की भीड़ में नासमझ़ोंकी भीड़ सारी

बॅंकोंका कारोबार उल्टा-पुल्टा
और नोटों को किया कितना छोटा
सत्यानाशी ज़ोखीम में लादकर
चोरी पर सीनाजोरी का रौब़ झाड़ता झ़ूठ़ा

अभाव नगद का या हैं अक्ल का?
विकास की बातों बातों में कारोबार उल्टे कलेजे का

पर वहीं तो ऐलान किया था नं
की इतिहास रचेगा भारत

- Translated by Swati, November 22, 2017

Popular posts from this blog

Marathi Haiku

Death

AI