Posts

Showing posts from March, 2016

दहलीज़

Image
उम्मीद और नाउम्मीद की सीमापर जहां पर खड़े रहीसी है जिंदगी बस खडी है,
आगे या पिछे चलने के चाहकी आहट तक नहीं होती
भाव - विचारोंकी गलतफैहमी इस कदर की बस् ... चौक कर देखती रहती है जिंदगी खुदकी जिंदादिलीसे भी अलग ।
सिर्फ 'जैसे थे वैसे रहे' यहीं सोचमें डटकर खड़ी ना उम्मीद खोई है और न हीं हुआ है नाउम्मीद का काम तमाम  ।
इन लंबे पलोंकी सदिया अपनी निष्क्रीयता की सक्रीयता में व्यस्त, ताकी, सिर्फ काठ़पर रहा जाए इतमिनान से, न आर या पार।
- स्वाती  March 17, 2016, 00.35 AM

Cacoon

Image
A structure to nurture
Each other,


To shield from damage
A measure to heal the scars,


Cacoon is an unbroken layer
To be broken to free the new life.



- Swati, March 07, 2016 22.45