साथ

एक सफर, अपना - अपना
अपनेपन के एहसास का

अपने अपनोंकी
जरूरत, शौक,
मजबूरी, परेशानी,
और गुस्सेकी भी;
सुंदर असलीयत
जैसा हर लम्हा ।

कुछ - कुछ अपने जैसा
फिर भी पुरा अलगसा

ऐसा कोई और
जो है आसपास हमेशा
बेखयाली में भी
खयालों का हमसफर ।

- स्वाती, May 25, 2015 00.54

Comments

Popular posts from this blog

Marathi Haiku

Death

नकळत