Posts

Showing posts from September, 2013

रिश्ते

रिश्ते ... दिल के
दुनियाभर की सारी
दिवारें पार कर
निरंतर साथ रहनेवाले!

रिश्ते ... दिल से
उलझनोंको समझने वाले
दर्द पर मुलायम मलहम से

रिश्ते ... कागज़ के
तमाम कानूनों के बावजूद
विश्वासघात करनेवाले

रिश्ते ... कलम से
नि:शब्द को शब्द देनेवाले
उलझनें सुलझानेवाले

रिश्ते ...
ख्याल और अस्तित्व की
सीमाएं लांघनेवाले
मन के बेखयाली गुलाम   
सदा चौकानेवाले
हमसफ़र.

- स्वाती Sept. 1, 2013.